कॉमर्स से स्नातक उत्तीर्ण सामाजिक विज्ञान के थर्ड ग्रेड टीचर पद के लिए योग्य: हाईकोर्ट

कॉमर्स से स्नातक उत्तीर्ण सामाजिक विज्ञान के थर्ड ग्रेड टीचर पद के लिए योग्य: हाईकोर्ट

कॉमर्स से स्नातक उत्तीर्ण सामाजिक विज्ञान के थर्ड ग्रेड टीचर पद के लिए योग्य: हाईकोर्ट


हाईकोर्ट न्यायाधीश अरुण भंसाली ने कॉमर्स (बैंकिंग एंड बिजनेस इकोनॉमिक्स) विषय में स्नातक उत्तीर्ण महिला अभ्यर्थी को तृतीय श्रेणी शिक्षक के लेवल द्वितीय सामाजिक विज्ञान विषय पद पर नियुक्ति के योग्य माना है। कोर्ट ने एक याचिका स्वीकार कर राज्य सरकार को निर्देश दिए कि अगर याचिकाकर्ता अन्य योग्यता भी रखती है तो उसे अगले चार सप्ताह में नियुक्ति दें। याचिकाकर्ता अन्य सभी वित्तीय लाभ व वरिष्ठता भी प्राप्त करने की हकदार होगी। याचिकाकर्ता चित्तौड़गढ़ निवासी प्रियंका मनेरिया की ओर से अधिवक्ता अभिमन्यु सिंह राठौड़ ने याचिका दायर कर कोर्ट को बताया कि याचिकाकर्ता कॉमर्स से स्नातक उत्तीर्ण है। उसने बैंकिंग एंड बिजनेस इकोनॉमिक्स विषय तीनों साल में अनिवार्य विषय के रूप पढ़ा है, जो सामाजिक विज्ञान विषय के समकक्ष है। अधिवक्ता ने कहा कि याचिकाकर्ता ने वर्ष 2017 में रीट परीक्षा सामाजिक विज्ञान विषय से उत्तीर्ण की। वर्ष 2018 में सामाजिक विज्ञान विषय में तृतीय श्रेणी अध्यापक लेवल द्वितीय के लिए आवेदन मांगे तो उसने भी आवेदन किया। याचिकाकर्ता का चयन हुआ व दस्तावेज सत्यापन के लिए बुलाया गया, लेकिन उसे यह कहते हुए नियुक्ति देने से इनकार कर दिया कि उसने कॉमर्स विषय में स्नातक उत्तीर्ण की है तथा आवेदन सामाजिक विज्ञान विषय में किया है। कॉमर्स व सामाजिक विज्ञान के विषय में भिन्नता है। अधिवक्ता ने कोर्ट के समक्ष याचिकाकर्ता की स्नातक की मार्कशीट व सिलेबस भी पेश किया और बताया कि याचिकाकर्ता द्वारा कक्षा 6 से 8 तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने लायक सामाजिक विज्ञान का ज्ञान स्नातक में अर्जित किया है, इसलिए वह नियुक्ति के लिए पात्र है। सरकार की ओर से तर्क दिया गया कि याचिकाकर्ता ने अनिवार्य विषय के रूप में बैंकिंग व बिजनेस इकोनॉमिक्स में स्नातक उत्तीर्ण की है, जबकि नियमानुसार केवल इकोनॉमिक्स में स्नातक की योग्यता मांगी गई थी, वह भी वैकल्पिक विषय के रूप में होनी चाहिए। दोनों पक्ष सुनने के बाद कोर्ट ने याचिका स्वीकार कर स्पष्ट किया कि वर्ष 1996 के नियमों में कॉमर्स विद्यार्थियों के लिए समानता रखी जानी चाहिए, जब विज्ञान विषय में बायोटेक्नोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी व बायोकेमिस्ट्री जैसे विषयों में की गई स्नातक को कक्षा छठी से आठवीं तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए उपयुक्त माना है, तब कॉमर्स के विद्यार्थियों द्वारा सामाजिक विज्ञान के विषय में की गई पढ़ाई को अध्यापक पद के लिए पात्रता से भिन्न रखाना विधि सम्मत नहीं है। 

0 Response to "कॉमर्स से स्नातक उत्तीर्ण सामाजिक विज्ञान के थर्ड ग्रेड टीचर पद के लिए योग्य: हाईकोर्ट"

Post a Comment

प्रेरकप्रसंग

latest